Recent Posts

Monday, July 22, 2013

परदेसी राजा...घर लौट के आजा !


हिंदी फ़िल्म तारा के म्यूज़िक रिलीज समारोह में अभिनेता पंकज पाठक, गीतकार देवमणि पांडेय, गायिका मधुश्री भट्टाचार्य और मुख्य सहायक निर्देशक उत्पल चक्रवर्ती (राहेजा क्लासिक क्लब, अंधेरी पश्चिम, मुम्बई  18 जून 2013)

सावन आया उमड़-घुमड़ कर काले बदरा छाए

बंजारा समुदाय की औरतों की ज़िंदगी पर आधारित फ़िल्म तारा में कवि देवमणि पांडेय के गीत सावन आया उमड़-घुमड़ कर काले बदरा छाए को संगीतकार सिद्धार्थ कश्यप ने संगीतबद्ध किया है। इस गीत को कभी नीम-नीम,कभी शहद--शहद फेम गायिका मधुश्री भट्टाचार्य ने आवाज़ दी है। के निर्माता-निर्देशक कुमार राजू हैं। अभिनेत्री रेखा राना और अभिनेता राज श्राफ पर इस गीत का फ़िल्मांकन हुआ है। गीतकार देवमणि पांडेय ने पिंजर, हासिल, कहाँ हो तुम आदि कई फ़िल्मों और सीरियलों में गीत लिखे हैं। फ़िल्म 'पिंजर' के गीत 'चरखा चलाती माँ' को वर्ष 2003 के लिए ''बेस्ट लिरिक आफ दि इयर'' पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।


हिंदी फ़िल्म तारा (दि जर्नी ऑफ लव ऐंड पैशन) 12 जुलाई 2013 को रिलीज़ हुई। फ़िम का म्यूज़िक टी सीरीज ने जारी किया है। अब तक कई फ़िल्म फेस्टीवेल में प्रदर्शित इस फ़िल्म को छः इंटरनेशनल अवार्ड मिल चुके हैं। फ़िल्म से सम्बंधित जानकारियाँ, समाचार और फोटो इसकी वेबसाइट www.tarathefilm.com पर देख सकते हैं।

फ़िल्म तारा में देवमणि पांडेय का गीत

सावन आया उमड़-घुमड़ कर काले बदरा छाए
तुझ बिन साजन सूना लागे जिया मोरा घबराए
परदेसी राजा घर लौट के आजा…….

दूर गया तू रूठ गई है मुझसे सुबह की लाली
तू जो नहीं तो दिल की दुनिया लगती ख़ाली-ख़ाली
नज़रें बिछी हुई रस्ते पर तेरी आस लगाए
तुझ बिन साजन सूना लागे जिया मोरा घबराए
परदेसी राजा घर लौट के आजा…….

ओ निर्मोही तुझे पुकारे काजल, बिंदिया, कँगना
जिस दिन भी तू लौट के आए महक उठेगा अँगना
तू क्या जाने इन आँखों ने क्या-क्या ख़्वाब सजाए
तुझ बिन साजन सूना लागे जिया मोरा घबराए
परदेसी राजा घर लौट के आजा…….




फ़िल्म तारा (दि जर्नी ऑफ लव ऐंड पैशन)  में गीतकार देवमणि पांडेय का गीत "परदेसी राजा " (सावन आया उमड़-घुमड़ कर काले बदरा छाए) सुनने के लिए नीचे दिए किसी लिंक पर क्लिक कीजिए-



 


हिंदी फ़िल्म तारा (दि जर्नी ऑफ लव ऐंड पैशन) के प्रीमियर शो के अवसर पर गीतकार देवमणि पांडेय, निर्माता-निर्देशक कुमार राजू, अभिनेत्री रेखा राना, अभिनेता राज श्राफ, अभिनेता पंकज पाठक, मुख्य सहायक निर्देशक उत्पल चक्रवर्ती, फ़िल्म के लेखक किशन पवार आदि (10 जुलाई 2013)



1 comment:

expression said...

बहुत बहुत बधाई......
सफलता सदा आपके कदम चूमे.

शुभकामनाएं
अनु